15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर भाषण : 15th August Speech in Hindi (Independence Day speech)

स्कूल में 15 अगस्त पर भाषण (15th August speech in Hindi) देने की प्रत्येक अच्छे विद्यार्थी की अभिलाषा होती है और विद्यालय में स्वतंत्रता दिवस पर भाषण देना (Speech on Independence Day in Hindi) / निबंध लेखन (Essay on Independence Day in Hindi)/ पैराग्राफ (Paragraph on 15th August in Hindi) लिखना इत्यादि कार्य बच्चों को करने के लिए कहा भी जाता है। ऐसे में सभी विद्यार्थी यही सोचते हैं कि 15 अगस्त पर भाषण (15th August speech in Hindi) कैसे तैयार करूं ? या फिर स्वतंत्रता दिवस पर निबंध (Independence Day essay in Hindi) कैसे लिखूं ? १५ अगस्त के भाषण (15 August speech) में किन किन तथ्यों को सम्मिलित करना आवश्यक है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए आज हम 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस (15th August Independence Day Speech in Hindi) के इस राष्ट्रीय पर्व पर भाषण लिखेंगे।



15 अगस्त पर भाषण हिंदी में (15th August speech in Hindi)


भाषण -1 

आदरणीय मुख्य अतिथि महोदय, सम्मानीय शिक्षक गण, अभिभावक एवं मित्रों। 

राष्ट्रीय पर्व के इस मौके पर मुझे आज अपने कुछ विचार रखने का अवसर प्राप्त होने पर मुझे बहुत हर्ष की अनुभूति हो रही है। आज सम्पूर्ण भारत 74वां स्वतंत्रता दिवस समारोह बड़े ही उत्साह से मना रहा है। आज से ठीक 74 वर्ष पूर्व हमारे देश के वीर योद्धाओं के अनेकानेक प्रयत्नों के उपरांत हमारे देश को अंग्रेजों के गुलामी की जंजीर से आजादी दिलायी थी। तब से प्रत्येक वर्ष स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को बड़े ही उत्साह से पूरे देश में मनाया जाता है।  भारत के प्रधान मंत्री राष्ट्रीय पर्व के इस अवसर पर झंडा रोहण समारोह के उपरांत लालकिला के प्राचीर से सम्पूर्ण देश को संबोधित करते हैं। 



दोस्तों प्रारम्भ में अंग्रेज व्यापार करने के लिए भारत में आये और सोने की चिड़िया कहे जाने वाले भारत देश से खूब सारा धन-दौलत,  सोना चांदी ले गए  और बाद में धीरे-धीरे उन्होंने सब कुछ अपने आधीन बना लिया। इतना ही नहीं अंग्रेजों ने भारतीयों पर बहुत ही अत्याचार किया। तदोपरांत 1857 से भारतीय वीर एवं वीरांगनाओं ने भारत को स्वतंत्र करने की शुरुआत की। 1857 का सैनिक विद्रोह भारतीय स्वतंत्रता के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण मोड़ था। जिसके उपरांत अंग्रेजो के अत्याचार के खिलाफ समूर्ण देश में आंदोलन होना शुरू हो गया। महात्मा गाँधी के नेतृत्व में भारतीय स्वतंत्रता संग्राम, सविनय अवज्ञा आन्दोलन में लोगों ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया।  भगत सिंह, खुदीराम बोस, चंद्रशेखर आजाद एवं अन्य वीर जवानों ने आजादी के इस जंग में अपने प्राणों की आहुति दे दी।  तदोपरांत अनेक लड़ाइयों एवं आंदोलनों के उपरांत 15 अगस्त 1947 को भारत स्वतंत्र हुआ।स्वतंत्रता की इस लड़ाई में हमारे देश के अनेक वीरों ने अपने प्राणो आहुति दी है। देश के इन्ही योद्धाओं के वजह से आज भारत स्वतंत्र हैं। देश के इन्ही वीर योद्धाओं को श्रद्धांजली देते हुए हम प्रत्येक वर्ष 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते हैं। 

जय हिन्द। जय भारत।




भाषण -2 

स्वतंत्रता दिवस पर भाषण हिंदी में (Independence Day Speech in Hindi)

माननीय मुख्य अतिथि, गुरुजनों एवं उपस्थित सभी मित्रो को सादर नमस्कार। 

15 अगस्त प्रत्येक भारतवासी के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण दिवस है क्योंकि 15 अगस्त 1947 को हमारे देश के अनेक स्वतंत्रता सेनानियों ने कई वर्षो के संघर्ष के उपरांत भारत को ब्रिटिश शासन से आजादी दिलाई और हमे  स्वाभिमान के साथ अपने देश में जीने के अवसर मिला।  तब से हम 15 अगस्त को प्रत्येक वर्ष अपनी मातृभूमि के स्वतंत्रता के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले वीर सपूतो को श्रद्धांजलि देते हुए बड़े ही उत्साह से स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं।

15 अगस्त 1947 से पूर्व लगभग 350 वर्षों तक अंग्रेजों ने भारत पर शासन किया। प्रारम्भ में व्यापार के लिए आकर भारतीयों में फुट डालकर उन्हें एक दूसरे के साथ लड़ाकर धीरे - धीरे अंग्रेजों ने भारत को अपने आधीन कर लिया और भारतीयों पर क्रूर अत्याचार करना शुरू कर दिया। परन्तु भारत माँ के वीर सपूतों ने 1857 से अंग्रेजों के अत्याचार के ख़िलाफ़ आवाज उठाना शुरू किया और तब से अंग्रेजों के खिलाफ अनवरत  अनेक लड़ाइयाँ एवं आंदोलन हुए। भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव, खुदीराम बोस, चंद्रशेखर आजाद जैसे महान देश भक्तों ने स्वतंत्रता के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी। सुभाष चंद्र बोस, महात्मा गाँधी, बालगंगाधर तिलक आदि भारत माँ के महान सपूतों ने देश के लोगों को स्वतंत्रता आंदोलन के लड़ाई में आने के लिए प्रेरित करके सम्पूर्ण भारतियों को स्वतंत्रता की इस लड़ाई में एक साथ शामिल किया एवं अनेकानेक लड़ाइयों एवं आंदोलनों के उपरांत 15 अगस्त 1547 को अंग्रेजों को सत्ता भारतीयों के हाथ में सौपनी पड़ी एवं भारत एक स्वतंत्र राष्ट्र बना। 

हम सब बड़े ही सौभाग्यशाली हैं क्योकि हम स्वतंत्र भारत में जन्मे हैं जहाँ पर हमें जीवन के सभी मूलभूत अधिकार स्वतः ही प्राप्त हैं और ये सब हमारे स्वतंत्रता सेनानियों एवं संविधान निर्माताओं के कारण ही संभव हो पाया है। आज 15 अगस्त के इस पावन राष्ट्रीय पर्व पर मै भारत के इन सभी वीर सपूतों को नमन करता हूँ। 

जय हिन्द। जय भारत।




प्रमुख शब्द :

15 अगस्त पर भाषण/ 15 august speech in hindi, स्वतंत्रता दिवस पर भाषण/ Independence day speech in hindi, स्वतंत्रता दिवस पर लेख/ article on independence day in hindi, 15 अगस्त 2020 लेख / article on 15th august 2020, 15 अगस्त 2020 पर / 15 august essay in hindi, independence day essay in hindi

Post a Comment

0 Comments